'सबद-लोक’ हमारी अनियतकालीन पत्रिका है जहाँ हम ‘धरोहर’ स्तंभ को छोड़कर अन्य सभी स्तंभों के लिये सिर्फ़ अप्रकाशित-अप्रसारित रचनाएँ ही लेते हैं। अत: जैसे-जैसे हमें आपकी पत्रिकानुकूल सामग्री प्राप्त होगी, उन्हें देखकर शीघ्र ही यहाँ लगाने का यत्न करेंगे और आपको उसके छपने की सूचना भी देंगे। पत्रिका के विविध स्तंभों के लिये आपकी रचनायें सादर आंमंत्रित हैं। अपनी रचनायें हमें कृपया युनिकोड फॉन्ट में ही उपलब्ध करायें। साथ में अपना फोटो, संपर्क-सूत्र और संक्षिप्त परिचय देना न भूलें। कृपया इस ई-पते पर पत्राचार करें और अपनी रचनायें भेंजें: sk.dumka@gmail.com > निवेदक- संपादक मंडल, ‘सबद-लोक’।

सबद-लोक का सदस्य बनें और नये पोस्ट की सूचना लें:

ईमेल- पता भरें:

  पप्‍पू की होशियारी देख लो

Saturday, March 13, 2010


पप्‍पू चला रहा था बाइक
बैठे उपर तीन होकर टाइट
पुलिस ने रोक लिया
तीन बैठना जुर्म है

पप्‍पू बोला हमें भी शर्म है
ईमानदारी सिर्फ तुम्‍हारा न धर्म है
इसलिए जुर्म को
मतलब तीसरे को
घर छोड़ने जा रहे हैं


हमें भी कानून तोड़ना नहीं सुहाता है
अपुन तीसरे को घर छोड़ने जाता है।

4 comments:

M VERMA March 13, 2010 at 6:05 AM  

इस बात पर क्यों मौन हैं
कि ये तीसरा कौन है?

अविनाश वाचस्पति March 13, 2010 at 10:00 AM  

तीसरा नहीं
ये तीसरी है
पर खबर ये
भीतरी है।

Anonymous June 11, 2014 at 6:07 AM  

Basically Personal Lines Of Credit - we're presenting to
you the best approach to receives a commission fast if you want it my website what proponents of the new measures fail to understand is that,
just all the as it can be a customer's choice to take out financing which has a
lender.

Anonymous August 6, 2014 at 11:50 PM  

Does your blog have a contact page? I'm having a tough time locating
it but, I'd like to shoot you an email.
I've got some suggestions for your blog you might be interested in hearing.
Either way, great website and I look forward to
seeing it grow over time.

Feel free to visit my blog post ... Asian Massage Mayfair ()

नीचे बॉक्स में लिंकों को क्लिक कर आप संबंधित पोस्ट को पढ़ सकते हैं -

लिंक-प्रतीक-चिन्ह (LOGO) - सबद-लोक

सबद-लोक

मार्गदर्शन -

* सम्पादन -सहयोग : अरविन्द श्रीवास्तव,मधेपुरा , अशोक सिंह (जनमत शोध संस्थान, दूमका), ,अरुण कुमार झा

* सहायता तकनीकी:अंशु भारती

सबद-लोक का लिंक-लोगो लगायें -

अपनी मौलिक-अप्रकाशित रचनायें कृपया इस पते पर प्रेषित करें -

  • डाक का पता- हंसनिवास, कालीमंडा,
  • हरनाकुंडी रोड,पोस्ट-पुराना दुमका,जिला- दुमका (झारखंड) - 814 101
  • ई-पता = sk.dumka@gmail.com
  • और mail@sushilkumar.net
-:लेखा-जोखा:-

__________

______________

  © Blogger templat@सर्वाधिकार : सुशील कुमार,चलभाष- 09431310216 एवं लेखकगण।

Back to TOP