'सबद-लोक’ हमारी अनियतकालीन पत्रिका है जहाँ हम ‘धरोहर’ स्तंभ को छोड़कर अन्य सभी स्तंभों के लिये सिर्फ़ अप्रकाशित-अप्रसारित रचनाएँ ही लेते हैं। अत: जैसे-जैसे हमें आपकी पत्रिकानुकूल सामग्री प्राप्त होगी, उन्हें देखकर शीघ्र ही यहाँ लगाने का यत्न करेंगे और आपको उसके छपने की सूचना भी देंगे। पत्रिका के विविध स्तंभों के लिये आपकी रचनायें सादर आंमंत्रित हैं। अपनी रचनायें हमें कृपया युनिकोड फॉन्ट में ही उपलब्ध करायें। साथ में अपना फोटो, संपर्क-सूत्र और संक्षिप्त परिचय देना न भूलें। कृपया इस ई-पते पर पत्राचार करें और अपनी रचनायें भेंजें: sk.dumka@gmail.com > निवेदक- संपादक मंडल, ‘सबद-लोक’।

सबद-लोक का सदस्य बनें और नये पोस्ट की सूचना लें:

ईमेल- पता भरें:

  पप्‍पू की पत्‍नी को तलाशो ?

Saturday, March 6, 2010

पप्‍पू की पत्‍नी
बस में नहीं रही
वो उसे कहां ढूंढे

मैंने बतला दिया
तुरंत से जल्‍दी
कार में तलाशो

वो सचमुच में
बस में नहीं थी
कार में भी नहीं थ|

10 comments:

RaniVishal March 6, 2010 at 5:05 AM  

हा हा हा ...अब पप्पू बिचारा इस बेबस का क्या करे !!
सोचने की बात है ...

M VERMA March 6, 2010 at 5:31 AM  

जो बस में नहीं है उसे तलाश क्यों किया गया?

Udan Tashtari March 6, 2010 at 7:49 AM  

तस्वीर चयन पर आपत्ति के लिए हेलमेट पहन कर रखिये...मित्रवत सलाह है.

अविनाश वाचस्पति March 6, 2010 at 1:22 PM  

@ उड़नतश्‍तरी

पहना तो हेलमेट ही था
परंतु शीशे वाला हिस्‍सा
पीछे की ओर चला गया
मतलब उल्‍टा पहना गया
इसलिए यह बवाल हुआ
आपकी आपत्ति उसी पर
जी हां,स्‍वीकार करते हैं
आप आदेश कीजिए
पर जो पप्‍पू के बस में नहीं
वो मेरे बस में और कार में भी नहीं है।

राज भाटिय़ा March 6, 2010 at 2:15 PM  

पप्पू भाई साफ़ साफ़ कह दो जिसे मिले वो ही रख ले, पप्पू तो कल से बहुत खुश है जी, बला गले से उतरी

हरकीरत ' हीर' March 6, 2010 at 2:47 PM  

टिप्पणियाँ देख मंद मंद मुस्कुरा रही हूँ.......!!

विनोद कुमार पांडेय March 6, 2010 at 4:38 PM  

कोई बात नही पप्पू धैर्य रखो ..आ जाएगी आपकी पत्नी

डॉ महेश सिन्हा March 6, 2010 at 10:04 PM  

तो जे कौन है

Manju Gupta March 6, 2010 at 10:42 PM  

Apne bs ki baat nhin hae .

रवि धवन March 7, 2010 at 10:34 PM  

इस हाहाकार को देखकर मैं पप्पू के लिए और टेंस हो गया हूं...

नीचे बॉक्स में लिंकों को क्लिक कर आप संबंधित पोस्ट को पढ़ सकते हैं -

लिंक-प्रतीक-चिन्ह (LOGO) - सबद-लोक

सबद-लोक

मार्गदर्शन -

* सम्पादन -सहयोग : अरविन्द श्रीवास्तव,मधेपुरा , अशोक सिंह (जनमत शोध संस्थान, दूमका), ,अरुण कुमार झा

* सहायता तकनीकी:अंशु भारती

सबद-लोक का लिंक-लोगो लगायें -

अपनी मौलिक-अप्रकाशित रचनायें कृपया इस पते पर प्रेषित करें -

  • डाक का पता- हंसनिवास, कालीमंडा,
  • हरनाकुंडी रोड,पोस्ट-पुराना दुमका,जिला- दुमका (झारखंड) - 814 101
  • ई-पता = sk.dumka@gmail.com
  • और mail@sushilkumar.net
-:लेखा-जोखा:-

__________

______________

  © Blogger templat@सर्वाधिकार : सुशील कुमार,चलभाष- 09431310216 एवं लेखकगण।

Back to TOP