'सबद-लोक’ हमारी अनियतकालीन पत्रिका है जहाँ हम ‘धरोहर’ स्तंभ को छोड़कर अन्य सभी स्तंभों के लिये सिर्फ़ अप्रकाशित-अप्रसारित रचनाएँ ही लेते हैं। अत: जैसे-जैसे हमें आपकी पत्रिकानुकूल सामग्री प्राप्त होगी, उन्हें देखकर शीघ्र ही यहाँ लगाने का यत्न करेंगे और आपको उसके छपने की सूचना भी देंगे। पत्रिका के विविध स्तंभों के लिये आपकी रचनायें सादर आंमंत्रित हैं। अपनी रचनायें हमें कृपया युनिकोड फॉन्ट में ही उपलब्ध करायें। साथ में अपना फोटो, संपर्क-सूत्र और संक्षिप्त परिचय देना न भूलें। कृपया इस ई-पते पर पत्राचार करें और अपनी रचनायें भेंजें: sk.dumka@gmail.com > निवेदक- संपादक मंडल, ‘सबद-लोक’।

सबद-लोक का सदस्य बनें और नये पोस्ट की सूचना लें:

ईमेल- पता भरें:

  पप्‍पू ने पूछा है पत्‍नी से : बाथरूम में नहाते समय क्‍या लगायेंगे ?

Saturday, September 19, 2009

ठंडे ठंडे पानी से नहाना चाहिए

नहाते समय क्‍या लगाना चाहिए
पूछ लिया पप्‍पू ने आकर मूड में
पत्‍नी से।

तुरंत जवाब दिया पत्‍नी ने
पप्‍पू की पत्‍नी जो है

साबुन ?
नहीं

शेम्‍पू ?
नहीं

अब समझी पानी से नहाना चाहिए !

पानी तो मैंने बतलाया है
मैं पूछ रहा हूं
क्‍या लगाना चाहिए ?

मलने की
भिगोने की नहीं कर रहा हूं बात
मेरी बात में दम है
मत समझो इसको खुराफात !

बतलाओ नहाते समय
क्‍या लगाना चाहिए ?

आज पप्‍पू की पत्‍नी
पप्‍पू से हार गई
पप्‍पू बाजी मार ले गया
बोला नहायेंगे जब बाथरूम में
तो बाथरूम का लॉक
अंदर से. लगाना चाहिए।

इतनी सरल सी बात
तुमने नहीं बतलाई
तुम्‍हें तो गर्मी में गरम
और ठंड में ठंडे पानी से
नहाना चाहिए
और .....

अब बोली पप्‍पू की पत्‍नी सुर में बोली
बाथरूम का लॉक
अंदर से लगाना चाहिए।

19 comments:

M VERMA September 19, 2009 at 4:41 AM  

पप्पू अब लगता है पप्पू नही रहा
इससे पहले क्या बिना लाक लगाये नहाता था क्या ?

Udan Tashtari September 19, 2009 at 6:10 AM  

पप्पू को देखते ही समझ गये थे कि अविनाश भाई पधार चुके हैं. :)

मस्त!!

हेमन्त कुमार September 19, 2009 at 6:22 AM  

वाह भई पप्पू ।
आभार ।
नवरात्रि की हार्दिक शुभकामनाएं ।

Vivek Rastogi September 19, 2009 at 6:44 AM  

अरे वाह पप्पू सिटकनी लगाना चाहिये अब तो हम भी यही गाना गायेंगे।

राजीव तनेजा September 19, 2009 at 7:36 AM  

और अगर किसी के बाथरूम की साँकल टूटी हुई हो तो?

वाणी गीत September 19, 2009 at 8:00 AM  

@ राजीव तनेजा ..
तो फुल आवाज में गाना गाना चाहिए
नवरात्री की बहुत शुभकामनायें ..!!

जी.के. अवधिया September 19, 2009 at 8:38 AM  

और यदि लॉक खराब हो तो?

तो फिर गाना गाना चाहिए! :)

नन्हीं लेखिका - Rashmi Swaroop September 19, 2009 at 11:18 AM  

pappu ke bathroom me darwaaza to hai na ?

Pankaj Mishra September 19, 2009 at 11:45 AM  

पप्पू को क्या करना चाहिए ये अविनाश जी अच्छी तरह आप ही जानते है :)

AlbelaKhatri.com September 19, 2009 at 11:47 AM  

वाह जी वाह !
आपने तो नहाते वक्त भी लगाना सिखा दिया..............
बहुत बड़े सिखाऊ किसिम के हैं जी आप

आपको बाथरूम की यात्रा मुबारक !

सुशील कुमार September 19, 2009 at 12:20 PM  

अरे भाई अब तो मुझे यह शक हो रहा कि पप्पु बाथ-रूम का लॉक नहाते वक्त लगाता था या नहीं।

अशोक सिंह September 19, 2009 at 12:22 PM  

अगर वह लॉक लगा कर नहाता तो उसकी पत्नी यह सलाह क्यों देती? आप भी हैं ना सुशील भाई,छोटी सी बात नहीं समझते!

विनोद कुमार पांडेय September 19, 2009 at 4:27 PM  

बहुत बढ़िया ..मज़ा आ गया...
बधाई!!

Kajal Kumar September 19, 2009 at 5:51 PM  

अब पप्पू तो पप्पू ठहरा न ...

Ulook September 19, 2009 at 5:55 PM  

गनीमत है
बाथरूम है
और उसमें
दरवाजा भी है ।

समयचक्र - महेंद्र मिश्र September 19, 2009 at 6:33 PM  

पप्पू अब पप्पू नहीं रहा अब वह बाथरूम में साबुन पानी लगाना जान गया है . नवरात्रि की हार्दिक शुभकामनाएं

Dr. Kumarendra Singh Sengar September 19, 2009 at 11:03 PM  

आपकी इस पोस्ट से बहुत पुरानी घटना याद आ गई, जब हम अपने बाबा जी के साथ सुबह-सुबह टहलने जाते थे।
"शौच के बक्त आदमी क्या खाता है और क्या पकड़ता है?"
जवाब आप भी सोचिए नहीं तो हम एक-दो दिन में अपने ब्लाग पर लगायेंगे।

Dr. Amit TYagi September 20, 2009 at 7:53 PM  

Lagta he Pappu ab Pappu nahin raha

उल्लू का पठ्ठा April 23, 2010 at 3:14 PM  

अच्छा सुनाया...!!!

नीचे बॉक्स में लिंकों को क्लिक कर आप संबंधित पोस्ट को पढ़ सकते हैं -

लिंक-प्रतीक-चिन्ह (LOGO) - सबद-लोक

सबद-लोक

मार्गदर्शन -

* सम्पादन -सहयोग : अरविन्द श्रीवास्तव,मधेपुरा , अशोक सिंह (जनमत शोध संस्थान, दूमका), ,अरुण कुमार झा

* सहायता तकनीकी:अंशु भारती

सबद-लोक का लिंक-लोगो लगायें -

अपनी मौलिक-अप्रकाशित रचनायें कृपया इस पते पर प्रेषित करें -

  • डाक का पता- हंसनिवास, कालीमंडा,
  • हरनाकुंडी रोड,पोस्ट-पुराना दुमका,जिला- दुमका (झारखंड) - 814 101
  • ई-पता = sk.dumka@gmail.com
  • और mail@sushilkumar.net
-:लेखा-जोखा:-

__________

______________

  © Blogger templat@सर्वाधिकार : सुशील कुमार,चलभाष- 09431310216 एवं लेखकगण।

Back to TOP